क्रिया किसे कहते हैं ? क्रिया के कितने भेद हैं ? | What is the verb? How many types of the verb are there?


क्रिया

जिस शब्द से किसी काम का करना या होना समझा जाय, उसे क्रिया कहते है।
उदाहरण:-
जैसे- पढ़ना, खाना, पीना, जाना इत्यादि।
मूलधातु + प्रत्यय = क्रिया 
मूलधातुओं में कुछ प्रत्ययों का प्रयोग करके क्रिया बताई जाती है। इसलिए मूलधातु को क्रिया का मूल अंश कहा जाता है।

जैसे-
चल् + अना = चलना
फिर् + अना = फिरना
उठ् + अना = उठना

क्रिया के दो भेद है।
(i) सकर्मक क्रिया
(ii) अकर्मक क्रिया

1. सकर्मक क्रिया

जो क्रिया कर्म के साथ आती हो अर्थात जिस क्रिया का फल कर्ता को छोड़कर कर्म पर पड़ता है। उसे सकर्मक क्रिया कहते है।
उदाहरण:-
जैसे- (i) राम पानी पिता है।
(पीना क्रिया के साथ कर्म पानी है)

(i) बस चलाई जाती है।
(ii) सीता गीत गति है।

2. अकर्मक क्रिया

अकर्मक क्रिया के साथ कर्म नहीं होता तथा उसका फल कर्ता पर पड़ता है । उन्हें अकर्मक क्रिया कहते है।
उदाहरण:-
जैसे- (i) सोहन हसता है।
(ii) राम कुर्सी पर बैठा है।
(iii) राम गाता है। (कर्म का अभाव है तथा गाता है क्रिया का फल राम पर पड़ता है)

क्रियाओं के अन्य भेद-

 (1) संयुक्त क्रिया
 (2) नामधातु क्रिया
 (3) प्रेरणार्थक क्रिया
 (4) पूर्वकालिक क्रिया
 (5) द्विकर्मक क्रिया
 (6) सहायक क्रिया

I. संयुक्त क्रिया

दो या दो से अधिक क्रियाओं के योग से जो क्रिया बनती है, उसे संयुक्त क्रिया कहते हैं।
जैसे-
I. राम बैठकर खाना खाता है।
ii. सीता विध्यालय पहुँच गई।
iii. श्याम लेटकर टीवी देखता है।

एक साथ जब दो क्रियाएँ आती है तो वहाँ संयुक्त क्रिया होती है।
उदाहरण:-
जैसे- बैठना - खाना
उठना - बैठना
चलना फिरना

II. नामधातु क्रिया

क्रिया को छोड़कर दुसरे शब्दों ( संज्ञा , सर्वनाम , एवं विशेषण ) से जो धातु बनते है , उन्हें नामधातु क्रिया कहते है।
उदाहरण:-
जैसे- अपना - अपनाना , गरम - गरमाना  आदि

जैसे- लुटेरों ने जमीन हथिया ली। हमें गरीबों को अपनाना चाहिए।

III. प्रेरणार्थक क्रिया

जिस क्रिया से ज्ञान हो कि कर्ता स्वयं कार्य को न करके किसी अन्य को कार्य करने की प्रेरणा देता है वह प्रेरणार्थक क्रिया कहलाती है।
उदाहरण:-
जैसे- लिखना से लिखवाना
करना से करवाना
मैंने पत्र लिखवाया।

IV. पूर्वकालिक क्रिया

जब कोई कर्ता एक क्रिया समाप्त करके दूसरी क्रिया करता है तब पहली क्रिया ' पूर्वकालिक क्रिया कहलाती है।
उदाहरण:-
जैसे- वह खाना खाकर सो गया।
वे पढ़कर चले गये।

V. द्विकर्मक क्रिया

वह क्रिया जिसके साथ दो कर्म प्रयोग में लाये जाते है। द्विकर्मक क्रिया कहलाती है।
उदाहरण:-
जैसे- राम ने श्याम को हिन्दी पढ़ाई। (दो कर्म-श्याम, हिन्दी)
अध्यापक छात्रों को हिन्दी पढ़ते है।

VI. सहायक क्रिया

सहायक क्रिया मुख्य क्रिया के साथ प्रयुक्त होकर अर्थ को स्पष्ट एवं पूर्ण करने में सहायक होती है, जैसे- मैं घर जाता हूँ। इस वाक्य में जाना मुख्य क्रिया है और हूँ सहायक क्रिया है।
उदाहरण:-
जैसे- मोहन सो रहा है।
सीता बाजार गयी थी।

Post a Comment

0 Comments