लिंग किसे कहते हैं ? लिंग के कितने प्रकार हैं ? | What is gender? How many types of genders are there?

लिंग किसे कहते हैं  ? लिंग के कितने प्रकार हैं ? | What is gender? How many types of genders are there?

लिंग

संज्ञा के जिस रूप से किसी व्यक्ति या वस्तु की पुरुष अथवा स्त्री जाति का बोध होता हैं उसे लिंग कहते हैं।
उदाहरण:-
माता, पिता, यमुना, शेर, शेरनी, दादा, दादी, बकरा, बकरी।

लिंग के दो भेद होते हैं-
1.   पुल्लिंग
2.   स्त्रीलिंग

पुल्लिंग-

जिन शब्दों से पुरुष जाति का बोध होता है उन्हें पुल्लिंग शब्द कहते हैं।

जैसे:- पिता, भाई, लड़का, पेड़, सिंह शिव, हनुमान, बैल।

स्त्रीलिंग

जिन शब्दों से स्त्री जाति का बोध होता है उन्हें स्त्रीलिंग शब्द कहते हैं।

जैसे: माता, बहन, यमुना, गंगा, कुरसी, छड़ी, नारी बुआ, लड़की, लक्ष्मी, गाय।

(i) कुछ प्राणिवाचक शब्द हमेशा पुल्लिंग व स्त्रीलिंग मे ही प्रयुक्त होते है।

ü  पुल्लिंग- खटमल, कौवा, मच्छर, चीता आदि
ü  स्त्रीलिंग- गंगा, यमुना, सवारी,

(ii) पर्वतों के नाम पुल्लिंग होते है।

जैसे-हिमाचल, सतपुड़ा विंध्याचल आदि।

(iii) महीनों के नाम पुल्लिंग होते है।

जैसे- जनवरी, फरवाई, चेत्र, वैसाख

(iv) नदियों के नाम हमेशा स्त्रीलिंग होते है।

जैसे- गंगा, यमुना, नर्मदा आदि

(v) बोलियों के नाम भी हमेशा स्त्रीलिंग होते है

जैसे- हिन्दी, गुजरती,पंजाबी, राजस्थानी, अरबी आदि।

शब्दों का लिंग परिवर्तन-

पुल्लिंग  à स्त्रीलिंग

दादा  à दादी

घोड़ा  à घोड़ी

छात्र ---à छात्रा

धोबी ---à धोबिन

हाथी ---à हथिनी

नर ---à मादा

युवक -à युवती

बालक -à बालिका

शिष्य ---à शिष्या

बाल ---à बाला

पंडित --à पंडिताइन

ठाकुर ---à ठाकुराइन

पुरुष ---à स्त्री

सम्राट --à सम्राज्ञी

Post a Comment

0 Comments