उपसर्ग किसे कहते हैं ? उपसर्ग के कितने प्रकार हैं ? | What are the prefixes? How many types of prefix are there?

उपसर्ग क्या हैं ? उपसर्ग के कितने प्रकार हैं ?


वे शब्दांश है जो किसी शब्द से पूर्व लगकर उस शब्द का अर्थ बदल देते है उन्हें उपसर्ग कहते हैं।
उदाहरण:-
जैसे- उपसर्ग + मूल शब्द = नया शब्द
उप + कार = उपकार

हिन्दी भाषा में प्रयुक्त होने वाले उपसर्ग मुख्य रूप से तीन भागों में विभाजित किए जा सकते है|

(i) संस्कृत के उपसर्ग
(ii) हिन्दी के उपसर्ग
(iii) आगत उपसर्ग


1. संस्कृत के उपसर्ग

संस्कृत के कुल 22 उपसर्ग है किन्तु ‘निस’ ‘नीर’ तथा ‘दुस’ ‘दूर’ में कोई अन्तर नहीं होता है, अत: संस्कृत भाषा के 20 उपसर्ग उन तत्सम शब्दों के साथ प्रयुक्त होते है जिनका प्रयोग हिन्दी भाषा में होता है, इसलिए इन्हें ‘तत्सम’ उपसर्ग भी कहा जाता है|
उदाहरण:-


उपसर्ग तथा उनसे निर्मित शब्द

अति=> अतिकाल, अत्याचार, अतिकर्मण,अतिरिक्त, अतिशय, अत्यन्त, अत्युक्ति, अतिक्रमण, इत्यादि।

अधि=> अधिकरण, अधिकार, अधिराज, अध्यात्म, अध्यक्ष, अधिपति इत्यादि।

अप=> अपकार, अपमान, अपशब्द, अपराध, अपहरण, अपकीर्ति, अपप्रयोग, अपव्यय, अपवाद इत्यादि।

=> अज्ञान, अधर्म, अस्वीकार इत्यादि।

अनु=> अनुशासन, अनुज, अनुपात, अनुवाद, अनुचर, अनुकरण, अनुरूप, अनुस्वार, अनुशीलन इत्यादि

=> आकाश, आदान, आजीवन, आगमन, आरम्भ, आचरण, आमुख, आकर्षण, आरोहण इत्यादि।

अव=> अवगत, अवलोकन, अवनत, अवस्था, अवसान, अवज्ञा, अवरोहण, अवतार, अवनति, अवशेष, इत्यादि।

उप=> उपकार, उपकूल, उपनिवेश, उपदेश, उपस्थिति, उपवन, उपनाम, उपासना, उपभेद इत्यादि।

नि=> निदर्शन, निपात, नियुक्त, निवास, निरूपण, निवारण, निम्र, निषेध, निरोध, निदान, निबन्ध इत्यादि।

निर्=> निर्वास, निराकरण, निर्भय, निरपराध, निर्वाह, निर्दोष, निर्जीव, नीरोग, निर्मल इत्यादि।

परा=> पराजय, पराक्रम, पराभव, परामर्श, पराभूत इत्यादि।

परि=> परिक्रमा, परिजन, परिणाम, परिधि, परिपूर्ण इत्यादि।

प्र=> प्रकाश, प्रख्यात, प्रचार, प्रबल, प्रभु, प्रयोग, प्रगति, प्रसार, प्रयास इत्यादि।

प्रति=> प्रतिक्षण, प्रतिनिधि, प्रतिकार, प्रत्येक, प्रतिदान, प्रतिकूल, प्रत्यक्ष इत्यादि।

वि=> विकास, विज्ञान, विदेश, विधवा, विवाद, विशेष, विस्मरण, विराम, वियोग, विभाग, विकार, विमुख, विनय, विनाश इत्यादि।

सम्=> संकल्प, संग्रह, सन्तोष, संन्यास, संयोग, संस्कार, संरक्षण, संहार, सम्मेलन, संस्कृत, सम्मुख, संग्राम इत्यादि।

सु=> सुकृत, सुगम, सुलभ, सुदूर, स्वागत, सुयश, सुभाषित, सुवास, सुजन इत्यादि।

अध=> अधजला, अधपका, अधखिला, अधमरा, अधसेरा इत्यादि।

अ-अन=> अमोल, अपढ़, अजान, अथाह, अलग, अनमोल, अनजान इत्यादि।

उन=> उत्रीस, उनतीस, उनचास, उनसठ, उनहत्तर इत्यादि।


2. हिन्दी के उपसर्ग

उदाहरण:-
उपसर्ग तथा उनसे निर्मित शब्द

=> अचेत , अमर , अशान्त
अन=> अनमोल , अनजान , अनाचार
भर=> भरसक , भरमार , भरपेट
दु=> दुबला , दुगना , दुसह
उन=> उनासी , उनतीस , उनचास


3. आगत उपसर्ग

उदाहरण:-
उपसर्ग तथा उनसे निर्मित शब्द

अल=> अलबत्ता , अलबेला
बद=> बदतमीज , बदबू
कम=> कमजोर, कमसिन
=> बनाम , बदौलत
हम=> हमराज , हमसफर

Post a Comment

0 Comments